Latest News

खूंटी गैंग रेप का मास्टरमाइंड गिरफ्तार

N7News Admin 23-07-2018 02:32 AM रांची

पुलिस की गिरफ्त में मुख्य साजिशकर्ता




रांची/खूंटी: 

खूंटी गैंगरेप और पूरे खूंटी जिले को पत्थलगड़ी की आड़ में अशांत करने वाले मुख्य साजिशकर्ता जॉन जिनास टुडू और बलराम समद को तीन जिलों की पुलिस ने मिलकर गिरफ्तार कर लिया है। जॉन को जमशेदपुर पुलिस के सहयोग से पकड़ा गया है, जबकि बलराम को चक्रधरपुर पुलिस के सहयोग से पकड़ा गया. 

राज्य से बाहर भागने की तैयारी में थे जॉन और बलराम: 

कोचांग गैंगरेप में मुख्य साजिशकर्ता के रूप में जॉन का नाम आने के बाद वह फरार चल रहा था। पुलिस की कई टीमें उसकी तलाश में चाईबासा और जमशेदपुर में लगातर छापेमारी अभियान चला रही थी। इसी बीच जमशेदपुर एसएसपी अनूप बिरथरे को जानकारी मिली कि जॉन जमशेदपुर के पोटका से बस में बैठ कर चक्रधरपुर के लिए निकला है। वो चक्रधरपुर से ट्रेन पकड़ झारखंड से बाहर भागने की कोशिश करेगा। इस सूचना पर जमशेदपुर एसएसपी ने तुरंत एक टीम का गठन कर जॉन की तलाश में लगा दिया। इसी दौरान एक बस में तलाशी के दौरान जॉन पकड़ा गया।

वही पत्थलगड़ी नेता बलराम समद भी चक्रधपुर भागने की तैयारी में था, लेकिन इसकी भनक भी खूंटी एसपी को लग गई। जिस बस में बलराम फरार होने की कोशिश कर रहा था उसे खूंटी के मुरहू के पास घेर कर रोका गया और बलराम को गिरफ्तार कर लिया गया।

जॉन ने स्वीकार किया जुर्म: 

पुलिस के पूछताछ में जॉन ने स्वीकार किया है कि उसने ही डायन प्रथा के खिलाफ नुक्कड़ नाटक में आई पांच लड़कियों के साथ दुष्कर्म करने के लिए पीएलएफआई के नक्सलियों को उकसाया था। जॉन के अनुसार नुक्कड़ नाटक के जरिये लगातार खूंटी पुलिस पत्थलगड़ी का विरोध करवा रही थी।जॉन को लगा कि अगर ग्रामीण जागरूक हो गए तो पत्थलगड़ी आंदोलन खतरे में पड़ जायेगा। इस वजह से जॉन ने  कोचांग में अक्सर आने वाले पीएलएफआई के एरिया कमांडर बाजी समद उर्फ टकला से बात की और उसे नुक्कड़ नाटक में आने वाली लड़कियो के साथ कुछ ऐसा करने को कहा कि वे दुबारा खूंटी में नही आये।

जॉन के कहने के बाद पीएलएफआई नक्सली बाजी समद ने अपने चार साथियों को गैंगरेप की वारदात को अंजाम देने के लिए बुलाया और स्कूल से नुक्कड़ नाटक की पूरी टीम को उठाकर जंगल ले गया। जहां उन्होंने 5 लड़कियों के साथ गैंगरेप किया साथ ही  गैंगरेप का वीडियो बनाया। गैंगरेप का जो वीडियो बनाया गया था उसी में बाजी समद दिखा था। जिसके बाद पुलिस को सभी दुष्कर्मियों की पहचान हो पाई थी। गैंगरेप के दौरान नुक्कड़ नाटक के पुरुष सदस्यों के साथ भी दुष्कर्मियों ने काफी अत्याचार किया था उन्हें मूत्र पिलाया गया था। साथ ही उनके ऊपर तरह तरह से अत्याचार किए गए थे।





रिलेटेड पोस्ट