Latest News

प्रेमिका ने दोस्तों को फोन कर कहा था संदीप को ले गए हैं घरवाले,12 दिन बाद मिली बालू में दफन लाश

N7News Admin 12-06-2019 01:24 AM देवघर



Reported by:एजाज़ अहमद 

मधुपुर/देवघर।

प्रेम-प्रसंग मामले में रहस्मय ढंग से लापता छात्र संदीप कुमार राय का शव बारह दिन बाद मधुपुर थाना क्षेत्र के लोहराजोर बालूघाट से बरामद किया गया.

हत्यारो ने साक्ष्य छुपाने के लिए संदीप की निर्मम हत्या कर क्षत विक्षत शव को बोरा में डाल नदी किनारे दफन किया था. घटना के संबंध में बताया जाता है कि गिरिडीह जिला के देवरी थाना क्षेत्र के धनुकडीह का रहने वाला इंटर का छात्र संदीप का मधुपुर के जोगीडीह सलैया की रहने वाली एक छात्रा के साथ प्रेम-प्रसंग चला आ रहा था. जिसको लेकर दोनों के परिवार वालों में अनबन चल रही थी. 31 मई को संदीप अपने घर से देवघर जाने की बात कहकर निकला था. इस बीच संदीप की प्रेमिका ने उसके दोस्तों को फोन पर जानकारी दी थी कि संदीप एक जून को उसके घर आया था. जहां संदीप के साथ उसके तीन चाचा और चाचियों ने मारपीट की है और उसके मूंह में कपड़ा बांधकर अन्य जगह ले गये हैं.

घटना की जानकारी मिलते ही संदीप के चचेरे भाई दूसरे दिन ही मधुपुर थाना पहुंचकर प्रेमिका के परिजनों के विरूद्ध अपहरण का मामला दर्ज कराया था. संदीप के परिजन उसकी तलाश में सलैया के आस पास जंगल और नदी किनारे खोजबीन करने लगे. इसी क्रम में संदीप के चाचा को लोहराजोर घाट के समीप खेत में मानव खोपड़ी जैसा दिखा. लोग गहन खोजबीन में जुट गये. तभी बालू में दफन शव की दुर्गंध आने लगी. जिसकी सूचना पुलिस को दी गई. इसके बाद सारठ एसडीपीओ सदलबल मौके पर पहुंचे और लाश को निकाला जा सका

. शव को नदी से निकाले पर पुलिस को भारी विरोध का सामना करना पड़ा. आक्रोशित परिजन और ग्रामीण देवघर एसपी को बुलाने की मांग कर रहे थे. घटना से आक्रोशित संदीप के परिजनों ने मधुपुर थाना प्रभारी पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए निलंबन की मांग की है. इधर एसडीपीओ अरविंद कुमार सिंह ने प्रेम-प्रसंग में हत्या की बात कही है, साथ ही नामजद सभी आरोपियों को गिरफ्तार कड़ी कार्रवाई की बात कही. 





रिलेटेड पोस्ट

  • राष्ट्रीय गौरव सम्मान से नवाज़े गए प्रिंस सिंघल
    गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे के साथ बतौर सलाहकार काम कर चुके प्रिंस सिंघल को अंतर्राष्ट्रीय युवा सोसाइटी और नेशनल यूथ अवार्ड्स फेडरेशन ऑफ इंडिया से राष्ट्रीय गौरव सम्मान 2019 से सम्मानित किया गया है।
  • संचार मंत्री के करकमलों से पुरस्कृत हुए डॉ. प्रदीप
    पिछले सत्र 2018-19 को भारतीय डाक विभाग द्वारा अखिल भारतीय पत्र लेखन प्रतियोगिता का आयोजन "ढाई आखर पत्र लेखन अभियान" के अंर्तगत सम्पूर्ण देश मे किया गया था, जिसमें नौ लाख से अधिक व्यक्तियों की भागीदारी हुई थी।