Latest News

नेशनल यूथ अवाॅर्ड के लिए चुने गए गोड्डा सांसद निशिकांत के एडवाइजर प्रिंस सिंघल

N7News Admin 12-08-2019 12:12 AM देश

प्रिंस सिंघल।




नई दिल्ली।

गोड्डा लोकसभा के सांसद डॉ. निशिकांत दुबे के डेवलपमेंट एसोसिएट सह एडवाइजर प्रिंस सिंघल को यूथ एफेयर्स एंड स्पोर्टस मंत्रालय द्वारा नेशनल यूथ अवाॅर्ड से नवाजा जायेगा. देश के 20 युवाओं को इस अवाॅर्ड के लिए चयनित किया गया है. जिसमें प्रिंस भी शामिल है.

नई दिल्ली में 12 अगस्त को आयोजित नेशनल यूथ अवाॅर्ड फंक्शन में प्रिंस सिंघल को नेशनल यूथ अवाॅर्ड 2016-17 से नवाजा जायेगा. प्रिंस सिंघल गोड्डा लोकसभा के सांसद निशिकांत दुबे के साथ गोड्डा, देवघर, और दुमका जिलों को विकसित करने के लिए पिछले दो सालों से डेवलपमेंट एसोसिएट सह एडवाइजर के रूप में काम कर रहे हैं.

प्रिंस ने बीआइटी पिलानी से स्नातक किया है. बावजूद इसके इंजीनियरिंग क्षेत्र को छोड़ प्रिंस ने सामाजिक क्षेत्र में जाना पसंद किया ताकि वो भारत के पिछड़े क्षेत्रों को विकसित करने में योगदान दे सकें. प्रिंस  काॅन्स्टीट्यूशन क्लब ऑफ इंडिया और टाटा ट्रस्ट्स द्वारा चुने गये ताकि सांसद की मदद के लिए उनके निर्वाचन क्षेत्र में परियोजनाओं का कार्यान्वयन कर सकें. 

पिछले कुछ वर्षों में प्रिंस ने गोड्डा लोकसभा क्षेत्र में उल्लेखित परियोजनाओं को जिला प्रशासन के समन्वय से लागू किया है. 

1. भारती फाउंडेशन के साथ काॅलेब्रेट कर 592 ड्राॅप आॅउट या स्कूल नहीं जाने वाले बच्चों को इन्राॅल्ड किया. साथ ही 6 ड्रॉप-आउट मुक्त पंचायतें बनाईं.

 2. इकोवेशन और अडानी फाउंडेशन के साथ काॅलेब्रेट कर गोड्डा के 140 ग्रामीण स्कूलों में स्मार्ट कक्षाएं स्थापित कीं. जिसका लाभ 1800 से अधिक बच्चों को मिल रहा. 

3. नाबार्ड के साथ मिलकर प्रिंस ने 1600़ महिलाओं के साथ 100 एसएचजी ग्रुप बनायें और उनका पहला लोन सेंक्शन कराने में सहयोग किया. 

4. एनएसडीसी के साथ मिलकर एक रोजगार अभियान का आयोजन किया, जिसके जरीये 55 कंपनियों में 1472 युवाओं की भर्ती की गयी. 

5. एलीमको के सहयोग से प्रिंस ने 15 ब्लाॅक्स में 21 मूल्यांकन शिविर आयोजित किए, जिसमें 1836 योग्य लोगों ने एडीआईपी स्कीम का लाभ पाने के लिए नामांकन कराया. 

6. सदर अस्पताल में प्रतिदिन स्वयंसेवी के रूप में कार्य कर 98 रोगियों को सीएम और पीएम रिलीफ फंड से लाभान्वित करने में मदद की. जिसके तहत 98 रोगियों को राहत कोष से 1.57 करोड़ की मदद मिली. 

7.  विभिन्न आंगनबाड़ी केंद्रों में स्वेच्छा से काम किया और 327 कुपोषित बच्चों को कुपोषण उपचार केंद्रों में ईलाज कराने में मदद की.
 
8. ग्रामीण बीपीओ के तौर पर कार्य कर सुदूर क्षेत्र में 10 महिलाओं के लिए रोजगार का सृजन किया. 

9. कृषि विज्ञान केंद्र, पुणे के साथ मिलकर गोड्डा के 120 किसानों को उन्नत कृषि के लिए प्रशिक्षण प्राप्त करने में मदद की. 

10. सुगंध और स्वाद विकास केंद्र के साथ 140 किसानों के लिए प्रशिक्षण का आयोजन किया, किसानों को लेमन ग्रास, मेंथा, और तुलसी की खेती के बारे में जानकारी दी गयी. 

11. जलजीविका के सहयोग से 30 मछलीपालन करने वाले किसानों को मछली पालन की एडवांस तकनीक के बारे में प्रशिक्षित किया.

12. 194 पंचायतों में जनता दरबार का आयोजन कर 16,657 नागरिकों की शिकायतों का समाधान किया. और एसबीएम, पेंशन, और वित्तीय समावेशन कार्यक्रमों में उनका नामांकन कराया. 

13. आदर्श ग्राम योजना के तहत गोद लिए गए 29 गांवों में सार्वजनिक ग्रामीण मूल्यांकन की कवायद की. गांव के समग्र विकास के लिए योजनाओं को तैयार और कार्यान्वित किया. 

14. इइसीएल और इसीएल के साथ एजेएवाई योजना और सीएसआर  के तहत क्रमशः 288 गांवों में 2000 सौर एलईडी स्ट्रीट लाइटें लगाई गईं. 

प्रिंस सिंघल को लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स, यूनिवर्सिटी ऑफ ब्रिस्टल और यूनिवर्सिटी ऑफ एडिनबर्ग से मास्टर्स इन पब्लिक पॉलिसी को आगे बढ़ाने का प्रस्ताव भी मिला है।





रिलेटेड पोस्ट