Latest News

भाजपा की राह में फूल ही नही कांटे भी,16 दिसंबर को संथाल के एक मंत्री के भाग्य का हो जाएगा फैसला 

N7News Admin 10-12-2019 06:37 PM विशेष ख़बर



N7India.Com (DESK)

देवघर।

झारखंड विधानसभा चुनाव के चौथे चरण का मतदान 16 दिसम्बर को होने वाला है। इस चरण में संताल के एक मंत्री के भाग्य का फैसला हो जाएगा। ज्यों-ज्यों मतदान नजदीक आ रहा है प्रत्याशियों की धड़कन बढ़ गई हैं। बता दें कि इस चरण में देवघर और मधुपुर विधानसभा में चुनाव होने हैं।

इन दो सीटों पर आसीन विधायक भाजपा के ही हैं। एक सीट के विधायक सरकार में मंत्री। इसलिए टकराव जबरदस्त होने वाला है। सबकी निगाहें इस चरण में इन दो सीटों पर रहेगी। जब से झारखंड बना है तीन बार विधानसभा चुनाव हो चुके हैं। ये चौथा चुनाव है। पिछले तीन चुनाव पर अगर गौर करें तो भाजपा ने मधुपुर में दो बार जीत हासिल की। देवघर में पिछली बार भाजपा जीती। एक बार राजद ने इसे हथियाया। इस बार भी इन दो सीटों पर भाजपा की राह में सिर्फ फूल ही नही कांटें भी हैं। इन कांटों पर चलकर फूल को जीत हासिल करने की चुनौती सामने खड़ी है।

बीकानेर

कौन किसका कांटा बनेगा

यूं देखें तो इन तीनो सीटों पर भाजपा के लिए कई कांटें हैं। मधुपुर में भाजपा से सीधी लड़ाई के मूड में आजसू और झामुमो मैदान में है। दो बार झामुमो को मात देकर भाजपा जीती। इस बार झामुमो और आजसू दोनों का समीकरण तगड़ा है। इनसे ज्यादा वोट लाये बिना भाजपा को जीत नहीं मिल सकती।

वहीं देवघर का हाल तो कुछ और ही है। झारखंड बनने के बाद यहां से भाजपा ने पहली बार खाता खोला। नारायण दास विधायक बने। पिछले दो बार के चुनाव में एक बार राजद और एक बार जदयू जीती। भाजपा रनिंग में भी नहीं रही। इस बार भी राजद चुनाव लड़ रही है। इसके अलावे एक और पार्टी आजसू भाजपा के लिए चुनौती बनने वाली है। देवघर में भाजपा के लिए राजद और आजसू को पछाड़ने की चुनौती रहेगी।


विनायक





रिलेटेड पोस्ट