Latest News

कोरोना: देवघर में आउट ब्रेक रिस्पोंस कमिटि की बैठक, डीसी ने दिए सख्त निर्देश

N7News Admin 19-03-2020 07:26 PM देवघर

बैठक करती डीसी नैंसी सहाय।




देवघर।

दवघर उपायुक्त नैन्सी सहाय की अध्यक्षता में आउट ब्रेक रिस्पोंस कमिटि की महत्वपूर्ण बैठक समाहरणालय सभागार में आयोजित की गयी। इस दौरान उपायुक्त द्वारा कोरोना वायरस से बचाव व जिला स्तर पर की जाने वाले तैयारियों की बिन्दुवार जानकारी संबंधित अधिकारियों व पुलिस पदाधिकारियों को दी गयी। इसके अलावे बैठके दौरान उन्होंने कोरोना वायरस से बचाव व जागरूकता को लेकर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश दिया। 

इसके अलावे समीक्षा के क्रम में उपायुक्त नैन्सी सहाय द्वारा सदर अस्पताल में कोरोना वायरस से बचाव को लेकर की गयी तैयारियों की वास्तुस्थिति से अवगत हुई। इस दौरान उन्होंने सदर अस्पताल में की गयी तैयारियों व आईसोलेशन वार्ड में की गयी व्यवस्थाओं व सुविधाओं की जानकारी लेते हुए सिविल सर्जन को आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश दिये। 

बैठक के दौरान उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निदेशित किया कि सभी प्रखण्डों में ब्लाॅक लेवल क्वीक रिस्पोंस टीम का गठन जल्द से जल्द किया जाय। साथ ही इस टीम में अंचलाधिकारी, प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, थाना प्रभारी, एमओआईसी व संबंधित कर्मियों को टीम में प्रतिनियुक्ति किया जाय। साथ हीं सभी प्रखण्डों में भीड़-भाड़ वाले इलाके से दुर 10 बेड का क्वॉरन्टीन वार्ड बनाने का निदेश संबंधित अधिकारियों को दिया। साथ हीं उन्होंने जानकारी दी कि कोरोना वायरस से संबंधित किसी भी तरह की जानकारी व बयान देने हेतु सिविल सर्जन, देवघर को प्रवक्ता के रूप में मनोनित किया गया है। इस दौरान सिविल सर्जन द्वारा जानकारी दी गयी कि अबतक देवघर जिला अंतर्गत कोरोना वायरस से संबंधित मरीज नहीं पाये गए है। अब जरूरत है हम सभी का सतर्क व स्वच्छ रहने की। 

आपसी समन्वय बनाकर करें कार्यः उपायुक्त

बैठक के दौरान उपायुक्त नैन्सी सहाय ने सभी अनुमंडल पदाधिकारी व अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को निदेशित किया कि अपने-अपने क्षेत्रों की निगरानी के साथ इस बात का विशेष ध्यान रखे की किसी भी प्रकार की अफवाह न फैलायी जाय। साथ हीं सेनेटाईजर व मास्क की कालाबाजारी न हो, इसको लेकर पूर्ण रूप से एक्टिव रहे व समय-समय पर अपने स्तर से थोक व खुदरा दवा दुकानदारों के यहां औचक निरीक्षण करते रहें। इसके अलावे उन्होंने सभी कार्यालयों व थानों में हाथ धुलाई जागरूकता कार्यक्रम का निर्देश दिया, ताकि लोगों को ज्यादा से ज्यादा कोरोना के प्रति जागरूक किया जा सके। साथ हीं अपने-अपने क्षेत्रों में विशेष सर्तकता बरतते हुए बाहर से आये हुए लोगों पर नजर रखने का निर्देश दिया। इसके अलावे उन्होंने देवघर जिला अंतर्गत सभी सीमाओं पर चेकपोस्ट बनाने का निर्देश दिया, ताकि बाहर से आनेजाने वाले लोगों पर पैनी नजर रखी जा सके। बैठक के दौरान उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि सर्वजनिक स्थलों एवं भीड़भाड़ वाली जगहों में बिना वजह लोगों को न जाने की सलाह दी जाती है, तथा बहुत भीड़ वाले आयोजनों को रोकते हुए आगे किसी भी प्रकार के आयोजन की अनुमति नहीं दी जाएगी। 

साफ-सफाई के साथ ब्लीचिंग व फोगिंग आवृति को दे गतिः उपायुक्त

समीक्षा के क्रम में उपायुक्त श्रीमती नैन्सी सहाय ने निगम क्षेत्र के साफ-सफाई को लेकर संबंधित अधिकारी को निदेशित करते हुए कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमण के खतरे को लेकर वृहत पैमाने पर फोगिंग, ब्लीचिंग का छिड़काव किया जाय। साथ हीं सफाई कर्मियों को अपने स्तर से निदेशित करें कि सफाई को लेकर विशेष सावधानी बरतते हुए मास्क, हैण्ड ग्लव्स व अपने हाथों की सफाई पर विशेष ध्यान दें। शहर के 35 वार्डों में निकासी व्यवस्था को बेहतर बनाने के साथ ही साथ नालियों में फोगिंग मशीन से दवा का छिड़काव भी शुरू करने का निर्देश उपायुक्त द्वारा संबंधित अधिकारियों को दिया गया है। इसके अलावे उन्होंने नगर परिषद, मधुपुर व पंचायतों में भी साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने और नियमित रूप से कीटनाशक दवाईयों का छिड़काव करने का निदेश दिया। इस दौरान नगर आयुक्त शैलेन्द्र कुमार लाल द्वारा जानकारी के अनुसार साफ-सफाई को लेकर अलग-अलग टीम बनाई गई है। जो वार्डों में जाकर साफ-सफाई का कार्य कर रही है। दवा छिड़काव के लिए फागिंग मशीन का उपयोग भी किया जा रहा हैं। 

मंदिर में हेल्प डेस्क व स्वास्थ्य टीम की होगी प्रतिनियुक्तिः उपायुक्त

बैठक के दौरान उपायुक्त नैन्सी सहाय ने बाबा मंदिर प्रभारी सह अनुमंडल पदाधिकारी को निदेशित किया कि मंदिर के चारों दरवाजों के साथ मंदिर प्रांगण, श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए की गयी स्टील बेरिकेटिंग, सीढ़ी की सफाई के साथ सेनेटाइज्ड करने का निर्देश दिया है। इसके अलावे हर प्रवेश द्वार पर पानी की व्यवस्था के साथ हाथ धोने के लिए साबुन या हैण्ड वाॅश रखने का निर्देश दिया है। साथ हीं श्रद्धालुओं को जागरूक करने के उद्देश्य से मंदिर प्रवेश द्वार पर हेल्प डेस्क बनाया जायेगा, जहां आपदा प्रबंधन से जुड़े सिविल वोलेन्टियर व पुलिस के जवानों की प्रतिनियुक्ति दो पालियों में की जायेगी। इसके अलावे श्रद्धालुओं व आम जनमानस को जागरूक करने के उद्देश्य से मंदिर प्रांगण व आस-पास के क्षेत्रों में कोरोना वायरस से बचाव व इसके रोकथाम से जुड़े जानकारियों को बैनर-पोस्टर के माध्यम से प्रदर्शित करने का निदेश संबंधित अधिकारियों को दिया। 

सोशल मीडिया के अलावा अफवाह फैलाने पर रखे कड़ी नजरः उपायुक्त

बैठक के दौरान उपायुक्त नैन्सी सहाय ने अनुमंडल पदाधिकारी व अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को निदेशित किया कि अपने क्षेत्रों में कड़ी निगरानी के साथ अफवाह फैलाने पर सख्त कार्रवाई करें, ताकि कोरोना वायरस से संबंधित किसी भी प्रकार की अफवाह न फैलायी जा सके। इसके अलावे बैठक के दौरान उपायुक्त ने सभी से अपील करते हुए कहा कि कोरोना से जुड़े अफवाहों पर ध्यान न देते हुए एक दूसरें को जागरूक करने का प्रयास करें। साथ हीं भीड़-भाड़ वाले ईलाकों में जाने से बचते हुए जिला प्रशासन का पूर्ण रूप से सहयोग करें। 

बाहर से कोई आया है तो इसकी सूचना जिला प्रशासन को देंः उपायुक्त

उपायुक्त ने कहा कि यदि कोई व्यक्ति हाल में विदेश से वापस लौटा है, अथवा देश के संक्रमित शहरों से होकर आया है, तो उससे कोरोना संक्रमण की जांच स्वयं कराने का आग्रह करें। अथवा इसकी सूचना जिला प्रशासन को दें, ताकि समय रहते वैसे लोगों का सही ईलाज व जांच कराया जा सके। इसके अलावे उन्होंने जिलावासी विशेष परिस्थिति में टोल फ्री नंबर 104 और जिला स्तर पर बनाए गए हेल्प लाइन नंबर 9771935367 पर संपर्क कर सकते हैं। साथ ही उन्होंने जिला वासियों से प्रशासन को हरसंभव सहयोग करने की अपील की है।

बिना तथ्य के कोरोना संबंधी खबरों के प्रकाशन व सरकार द्वारा जारी आदेश के उल्लंघन व जांच में सहयोग न करने पर हो सकती है कड़ी कार्रवाई

बैठक के दौरान उपायुक्त नैन्सी सहाय द्वारा जानकारी दी गयी कि कोरोना वायरस के खतरे से लोगों के बचाव हेतु कोरोना वायरस रेगूलेशन, 2020 को लागू कर दिया गया है। इसके तहत सार्वजनिक स्थानों को सावधानी के तौर पर 14 अप्रैल तक बंद करने का आदेश दिया गया है। साथ हीं अफवाहों पर लगान लगाने के उद्देश्य से किसी भी संस्थान कोई भी व्यक्ति या संस्था COVID-19 से संबंधित मामलों  को बिना अनुमति के प्रचारित या प्रसारित नहीं करने का आदेश जारी किया गया है। इन नियमों के प्रावधानों में से कोई भी उल्लंघन करने वाले को नियंत्रित करता है या आदेश की अवहेलना करता है या इन नियमों के तहत किसी भी प्राधिकारी पर लगाए गए कार्यों, कर्तव्यों और जिम्मेदारियों के प्रदर्शन को बाधित करता है, तो भारतीय दंड संहिता, 1860 (45) की धारा 188 के तहत अपराध माना जाएगा। साथ हीं संबंधित के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जायेगी। 


बीकानेर





रिलेटेड पोस्ट