Latest News

चार्टर्ड प्लेन से प्रवासी मज़दूरों को घर लाने की तैयारी, सीएम ने गृह मंत्रालय से मांगी अनुमति

N7News Admin 21-05-2020 06:34 PM रांची

हेमंत सोरेन, मुख्यमंत्री झारखण्ड।




रांची।

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने लद्दाख, अण्डमान और नार्थ इस्ट में फंसे मजदूरों को चार्टर्ड प्लेन से लाने की अनुमति मांगी है। इसके लिए झारखंड सरकार की ओर से केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र भेजा गया है। 

चार्टर्ड प्लेन की अनुमति के पीछे की वजह यह बताया गया है कि लद्दाख, अण्डमान और नार्थ इस्ट में फंसे मजदूरों को किसी अन्य परिवहन के माध्यम जैसे बस या ट्रेन से लाना फिलहाल संभव नहीं है। इसलिए अगर गृह मंत्रालय से इन इलाकों से मजदूरों को चार्टर्ड प्लेन से लाने की अनुमति मिल जाती है तो उनकी भी सुरक्षित घर वापसी हो सकती है।

मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने पत्र लिख केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से अनुरोध किया है कि "अण्डमान-निकोबार, लद्दाख और उत्तर पूर्व के राज्यों में लॉकडाउन की वजह से फंसे झारखण्ड के श्रमिकों को चार्टड प्लेन से लाने की अनुमति प्रदान करें। क्योंकि इन श्रमिकों को किसी अन्य परिवहन के माध्यम यथा बस या ट्रेन से लाना फिलहाल संभव नहीं।"

लेटर

लद्दाख, अण्डमान और नार्थ इस्ट में फंसे हैं 650 मजदूर

मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को लिखे पत्र में ये भी कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अनुमति मिलने के बाद झारखंड में डेढ़ लाख प्रवासी मजदूरों की वापसी हो चुकी है। झारखंड सरकार ने 12 मई को भी लद्दाख, अण्डमान और नार्थ इस्ट में फंसे मजदूरों को चार्टर्ड प्लेन से लाने की अनुमति मांगी थी। लेकिन लद्दाख में करीब 200, उत्तर पूर्वी राज्यों में करीब 450 श्रमिक अब भी फंसे हुए हैं, जिन्हें ट्रेन या बस से लाना फिलहाल संभव नहीं है। इसलिए गृह मंत्रालय झारखंड के मजदूरों को चार्टर्ड प्लेन से सम्मान पूर्वक लाने की अनुमति दें।


LG





रिलेटेड पोस्ट