Latest News

Covid-19 और लॉकडाउन से उत्पन्न हालात से निपटने के लिए बिहार सरकार कर रही ये काम

N7News Admin 30-05-2020 07:01 PM राज्य

अनुपम कुमार, सचिव,सूचना जन-सम्पर्क विभाग।




पटना (बिहार)

पटना में शनिवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सूचना जन-सम्पर्क विभाग के सचिव अनुपम कुमार, स्वास्थ्य विभाग के सचिव लोकेश कुमार सिंह एवं पुलिस मुख्यालय से ए.डी.जी जितेन्द्र कुमार ने मीडियाकर्मियों को कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन से उत्पन्न हालात के बाद सरकार द्वारा किए जा रहे कार्यों की जानकारी दी।  

कोरोना संक्रमण को लेकर लगातार समीक्षा की जा रही है। सूचना सचिव अनुपम कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज मुख्य सचिव एवं वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ समीक्षा की है। शुक्रवार को क्षेत्रिय पदाधिकारियों से 31 मई के बाद की रणनीति को लेकर फीडबैक ली गई थी। समीक्षा के क्रम में आज भी इस पर चर्चा हुई। लॉकडाउन को लेकर केन्द्रीय गृह मंत्रालय का दिशा-निर्देश प्रतिक्षित है, उसके आने के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि जो भी इच्छुक लोग वापस आना चाहते हैं, उन्हें जल्द से जल्द लाया जाए। चर्चा में इस बात पर विशेष जोर दिया गया कि प्रवासी श्रमिकों और पहले से रह रहे श्रमिकों दोनों के लिए रोजगार सुनिश्चित किए जाएं, सभी के लिए रोजगार की उपलब्धता सरकार की प्राथमिकता में है। लॉकडाउन के समय अब तक 4 करोड़ 93 लाख मानव दिवस सृजित किए जा चुके हैं। मुख्यमंत्री ने ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग कराने का भी निर्देश दिया।

सूचना सचिव ने बताया कि 12 हजार 4 सौ 78 ब्लाक क्वारंटाईन सेंटर में कुल 13 लाख 31 हजार 7 सौ 7 लोग आवासित रहे, जिनमें से 7 लाख 6 हजार 7 सौ 10 श्रमिकों के क्वारंटाईन पीरियड पूरा होने के बाद डिस्चार्ज किया जा चुका है, अभी फिलहाल 6 लाख 25 हजार 50 लोग ब्लाक क्वारंटाईन सेंटर में आवासित हैं। जिन लोगों को ब्लाक क्वारंटाईन सेंटर से डिस्चार्ज किया जाता है उन्हें एक सप्ताह के लिए होम क्वारंटाईन में रहना होता है। बिहार में फिलहाल 86 आपदा राहत केन्द्र चलाए जा रहे हैं जिसका लाभ 15 हजार से अधिक लोग उठा रहे हैं। आज 38 ट्रेनों से 62 हजार सात सौ प्रवासियों और रविवार को 32 ट्रेनों से 51 हजार पांच सौ प्रवासियो के वापस बिहार आने की संभावना है। 
वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जानकारी देते हुए एडीजी पुलिस मुख्यालय जितेन्द्र कुमार ने कहा कि लॉकडाउन के उल्लंघन को लेकर पिछले 24 घंटे में अब तक 03 एफआरआई दर्ज किए गए हैं, 03 गिरफ्तारियां हुई हैं और 826 वाहन जब्त किए गए है। 

वीडियो कांफ्रेंसिंग में जानकारी देते हुए स्वास्थ्य विभाग के सचिव लोकेश कुमार सिंह ने कहा कि पिछले 24 घंटे में कोरोना के 235 नए मामले सामने आए हैं। बिहार में कोरोना पाजिटिव केस का आंकड़ा 3511 हो गया है।  बिहार में अब तक कोरोना संक्रमण के 7,3929 जाँच किए जा चुके हैं। स्वास्थ्य सचिव ने बताया कि 3 मई के बाद आने वाले प्रवासियों में से 2433 प्रवासी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं । कोरोना से पिछले 24 घंटे में 102 लोग ठीक हुए हैं, अब तक कोरोना से 1311 लोग ठीक हो चुके हैं। 





रिलेटेड पोस्ट