Latest News

एटीएम में कम रुपया जमा कर रिकार्ड में दिखाता था ज़्यादा, बैंक मैनेजर ने ऐसे की हेराफेरी

N7News Admin 11-09-2020 07:26 PM दुमका




दुमका। 

एसबीआई शिकारीपाड़ा के फरार बैंक मैनेजर को दुमका पुलिस ने भागलपुर से पकड़ लिया है। बैंक मैनेजर एसबीआई शिकारीपाड़ा दुमका के बैंक मैनेजर के पद पर नियुक्त था और उनपर धोखाधड़ी का आरोप है। 

पुलिस ने ब्रांच के सफाई कर्मी सुनील मंडल को 1 लाख 48 हजार रुपयों से साथ पकड़ा है। मैनेजर द्वारा एक करोड़ 15 लाख, 50 हजार रुपये के ठगने का मामला अब तक सामने आया है। बैंक अधिकारियों को संदेह है कि ठगी की राशि और भी बढ़ सकती है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान एसपी अंबर लकड़ा ने बताया कि अपने कर्ज़ को समाप्त करने के लिए लालच में आ कर बैंक मैनेजर ने धोखाधड़ी की। 

एसपी ने कहा कि मैनेजर अपने परिचितों के खाते में रुपया ट्रांसफर करता था फिर उसे निकाल लेता था। उसने सफाईकर्मी सुनील मंडल के एकाउंट में भी 27 लाख रुपये जमा किये थे। एसपी ने ये भी कहा कि इसमें कुछ और लोग भी शामिल है जिसकी तलाश अभी भी जारी है। बैंक मैनेजर एटीएम में कम रुपया जमाकर रिकार्ड में अधिक दिखाता था। पुलिस ने दोनों को हिरासत में ले लिया है। 


त्रिदेव





रिलेटेड पोस्ट

  • दुमका नाबालिग से गैंगरेप मामला:पुलिस पर निर्दोष को फंसाने का आरोप,थाना को घेरा
    दुमका जिले के रामगढ़ थाना क्षेत्र के सिंदुरिया गांव की सैकड़ों महिलाएं और पुरुष मंगलवार सुबह रामगढ़ थाना पहुंचे और थाना को घेर लिया। ग्रामीणों का आरोप है कि नाबालिग से गैंगरेप मामले में सोमवार को पुलिस सिंदुरिया गांव निवासी कैलाश मांझी को पूछताछ के लिए थाना ले आई और उसके साथ मारपीट कर जबरन घटना स्वीकार करवाई जा रही है। 
  • लंबित कार्यों को जल्द करें पूरा : डीसी
    उपायुक्त-सह-जिला दण्डाधिकारी कमलेश्वर प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में जिला खनिज फाउंडेशन ट्रस्ट की बैठक आयोजित समाहरणालय सभागार में की गई। इस दौरान उपायुक्त द्वारा खनन प्रभावित क्षेत्रों में विभिन्न योजनाओं के तहत किये जा रहे कार्यो के अद्यतन स्थिति की वास्तुस्थिति से अवगत हुए एवं संबंधित विभाग के अधिकारियों को निदेशित किया कि सारे कार्यों को गुणवत्तापूर्ण तरीके से निर्धारित समय से पूर्ण करायें।